Monday, November 21, 2011

दगा ए दिल हमको याद आने लगे

होठों पे उनके कभी मेरा नाम भी आए

वो बातें तेरी फसाने तेरे

तुम्हारे शहर का मौसम

निगाहें मिलाकर बदल जाने वाले

Friday, November 11, 2011

दर्द से मेरा दामन भर दे या अल्लाह

यूं सजा चाँद (LIVE)

कभी कभी मेरे दिल मे (LIVE)

ए मेरे वतन के लोगों (LIVE)

एक दिन बिक जाएगा (LIVE)

मेरा जीवन कोरा कागज़ (LIVE)

पल पल दिल के पास (LIVE)

क्या हुआ तेरा वादा (LIVE)