Friday, March 25, 2011

तुम इतना जो मुस्कुरा रहे हो.....

किसी नज़र को तेरा....

झुकी झुकी सी नज़र

तुम मिले दिल खिले ....

कुछ न कहो

Thursday, March 10, 2011

घुंघरू की तरह ........

ये दिल न होता बेचारा .....

है अपना दिल तो आवारा .......

देखो ना.....

मेरा जीवन कोरा कागज़....